तालिबान ने जारी किया नया फरमान, ‘अब बिना पुरुषों वाली क्लास में पढ़ेंगी लड़कियां-महिलाएं’

 

VISHAL ADLAKHA 

 

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान(TALIBAN GOVT.) अपने द्वारा किए गए सभी वादों से पलटता हुआ दिख रहा है. इस बीच तालिबान सरकार के शिक्षा मंत्री  ने कहा कि महिलाएं पोस्ट-ग्रेजुएट स्तर सहित सभी स्तर की यूनिवर्सिटी में पढ़ सकती हैं. लेकिन कक्षाएं लैंगिक आधार पर विभाजित होनी चाहिए और इस्लामी पोशाक पहनना अनिवार्य होगा.

 

मंत्री अब्दुल बकी हक्कानी (Abdul Baqi Haqqani) ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में इन नई नीतियों की रूपरेखा पेश की. इससे कुछ दिन पहले ही अफगानिस्तान के नए शासकों ने पूर्ण तालिबान सरकार के गठन की घोषणा की जिसमें एक भी महिला शामिल नहीं है. इसे लेकर तालिबान की आलोचना भी हुई है.

 

एक साथ नहीं पढ़ सकेंगे लड़का- लड़की 

 

अब्दुल बकी हक्कानी ने कहा, तालिबान 20 साल पहले के दौर में नहीं लौटना चाहता है. उन्होंने कहा, हम आज के समय में मौजूद चीजों से देश को बनाने में जुटे हुए हैं. लिंग भेद को भी लागू किया जाएगा. मंत्री ने कहा, हम लड़के और लड़कियों को एक साथ पढ़ने नहीं देंगे. हम सह-शिक्षा की अनुमति नहीं देंगे.

 

महिलाओं के खेलने पर भी लगी रोक 

 

इसके अलावा तालिबान सरकार ने अफगानिस्तान में महिला खेलों खासकर महिला क्रिकेट पर रोक लगा दी है. तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के उप प्रमुख अहमदुल्लाह वासिक के हवाले से नेटवर्क ने कहा, क्रिकेट में ऐसे हालात होते हैं कि मुंह और शरीर ढका नहीं जा सकता. इस्लाम महिलाओं को ऐसे दिखने की इजाजत नहीं देता.

Share