तानाशाह किम जोंग उन की सेहत को लेकर अटकलों का बाजार फिर हुआ गर्म, इस बार ये है वजह

 

उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोग उन की सेहत को लेकर एक बार फिर से अटकलों का दौर शुरू हो गया है। इसकी वजह बनी है उनकी एक फोटो, जो हाल ही में सामने आई है। इसमें उन्‍हें पहले से कमजोर महसूस किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि उनका वजन पहले के मुकाबले कम हुआ है। दक्षिण कोरियाई न्‍यूज एजेंसी यॉनहॉप के मुताबिक, उनकी ये तस्‍वीर उत्‍तर कोरिया की स्‍टेट मीडिया ने शनिवार को ही रिलीज की है। उनकी ये फोटो उस वक्‍त की है जब उन्‍होंने पिछले सप्‍ताह सत्‍ताधारी पार्टी की पोलित ब्‍यूरो की बैठक को संबोधित किया था। इस बैठक के दौरान वो करीब एक माह बाद मीडिया के सामने आए थे। इस दौरान ऐसा माना गया कि उन्‍होंने अपना वजन कुछ कम किया है। एनके न्‍यूज ने उनकी पहले और अब सामने आई फोटो का विश्‍लेषण किया है।

 

सिओल बेस्‍ड एक वेबसाइट ने मंगलवार को उनकी एक लार्ज इमेज पब्लिश की थी। इसमें उनकी बाईं कलाई पहले के मुकाबले पतली लग रही थी। इस फोटो में उनकी कलाई में टाइट से बंधी हुई उनकी पसंदीदा घड़ी दिखाई दे रही है जो करीब 12 हजार डॉलर की है। जानकारों ने इस इमेज को नवंबर 2020 और इस वर्ष मार्च में ली गई एक फोटो के साथ मिलाकर भी देखा है। आपको बता दें कि 37 वर्षीय किम चेन स्‍मोकर हैं। उनके पिता किम जोंग इल की मौत वर्ष 2011 में दिल का दौरा पड़ने से हुई थी। माना जा रहा है कि अपने लाइफस्‍टाइल ओर वजन की वजह से उनको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

 

एनके न्‍यूज ने दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसियों के हवाले से बताया है कि किम का वजन करीब 140 किग्रा है। वहीं वर्ष 2011 में सत्‍ता पर आसीन होने के बाद उनका करीब 7 किग्रा वजन बढ़ा है। हालांकि अब तक ये साफ नहीं हो सका कि ताजा फोटो में कुछ पतले दिखाई दे रहे किम किसी बीमारी की वजह से ऐसा हुए हैं या वजन कम करने की तरफ उनका वास्‍तव में ध्‍यान गया है, जिसका रिजल्‍ट दिखाई दे रहा है। हालांकि न्‍यूज वेबसाइट पर विशेषज्ञ मान रहे हैं कि वो वजन कम करने को लेकर कुछ संजीदा दिखाई दे रहे हैं और उन्‍होंने वजन कम करने का फैसला लिया है। उनका ये भी मानना है कि उनके खड़े होने की पोजिशन में भी काफी सुधार हुआ है

 

आपको बता दें कि उत्‍तर कोरिया की आर्थिक हालत बेहद खराब है और वहां पर खाने-पीने की चीजों की काफी कमी है। कोरोना महामारी के दौरान चीन से व्‍यापार कम होने की वजह से भी हालात काफी खराब हुए हैं। वहीं अंतरराष्‍ट्रीय प्रतिबंध भी उसकी राह का बड़ा रोड़ा बने हुए हैं। ये प्रतिबंध उत्‍तर कोरिया द्वारा बैलेस्टिक मिसाइल और न्‍यूक्लियर टेस्‍ट के बाद लगाए गए थे।आपको बता दें कि किम की सेहत को लेकर कई बार अटकलों का बाजार काफी गरम रहा है।

Share