US लेबोरेटरी की रिपोर्ट ने भी दावे पर लगाई मुहर, चीन की वुहान लैब से ही लीक हुआ था कोरोना वायरस!

 

विश्व भर में कोहराम मचाए कोरोना को ने पूरे विश्व को बदल कर रख दिया. चीन से शुरु हुए इस वायरस ने भारत समेत कई देशों को प्रभावित किया. इस बीच अमेरिकी सरकार की नेशनल लेबोरेटरी कोविड-19 के ऑरिजन पर एक रिपोर्ट में इस नतीजे पर पहुंची है कि वुहान शहर में एक चीनी लैब से वायरस के लीक होने का दावा करने वाली थ्योरी गौर करने वाली है और इस पर आगे की जांच होनी चाहिए.

 

वायरस के ऑरिजन का पता लगाने में जुटी खुफिया एजेंसियां 

 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि खुफिया एजेसिंया वायरस के ऑरिजन का पता लगाने में जुटी हुई है इसी कड़ी में उन्होंने कहा था कि अमेरिकी खुफिया एजेंसिया वायरस के ऑरिजन को लेकर दो संभावित स्थितियों पर विचार कर रही हैं. इसमें पहला ये है कि वायरल लैब में हुई दुर्घटना के बाद सामने आया और दूसरा ये है कि वायरस ने संक्रमित जानवर के जरिए इंसानों के शरीर में प्रवेश किया. बाइडेन ने कहा कि लेकिन अभी तक खुफिया एजेंसियां किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंची हैं. इससे पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लगातार वायरस से लैब से लीक होने का दावा करते रहे थे.

 

वहीं, अमेरिकी सरकार के सूत्रों ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के दौरान सर्कुलेट हुए अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट में आरोप लगाया गया कि नवंबर 2019 में चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी  के तीन रिसर्चर्स इतने बीमार हो गए कि उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा. हालांकि, वे किस बीमारी से संक्रमित हुए थे, इसकी जानकारी नहीं दी गई. अमेरिकी अधिकारियों ने चीन पर वायरस के ऑरिजन को लेकर पारदर्शिता नहीं दिखाने का आरोप लगाया है.

Share