ये हैं भारतीय टीम की जीत के असली हीरो, गेंदबाजी के साथ बल्ले से भी किया कमाल

-अब्दुल नबी हसन की कलम से

भारत ने इंग्लैंड की टीम को चेन्नई के चेपाक मैदान में दूसरे टेस्ट में बड़ी मात दे दी है, पहले मैच का लगान कोहली एंड कंपनी ने बाखूबी चुका दिया है, और ऐसा लगान चुकाया है कि अंग्रेज आगे से कभी नहीं कहेंगे नहीं कि लगान बसूलना है,

भारतीय टीम पहले टेस्ट में मिली हार के बाद दूसरे टेस्ट में आत्मविश्वास से लबरेज दिख रही थी यही कारण था पहली इंनिंग्स में बल्ले से शानदार खेल दिय़ा और फिर गेंदबाजी में भी कमाल दिखा दिया, इस टेस्ट मैच को जीतने में सभी खिलाड़ियों ने अपना अपना योगदान जरुर दिया है लेकिन अश्विन ने जो खेल दिखाया है वो बता गया कि इस जीत का असली हीरो है तो कोई है तो वो अश्विन ही है,

 

अश्विन ने दूसरे टेस्ट में तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद मीडिया से बातचीत में कहा, मैं यह नहीं कहूंगा कि यह पिछले तीन दिन में हुआ है। मैं विक्रम राठौड़ के साथ लंबे समय से अभ्यास कर रहा था। अपनी बल्लेबाजी का श्रेय मैं उन्हें देना चाहूंगा।’

उन्होंने कहा, ‘पता नहीं यहां अगला टेस्ट कब होगा लेकिन मैं खुश हूं। पता नहीं चेन्नई में फिर टेस्ट खेलने का मौका मिलेगा या नहीं या मिलेगा भी तो कब। पता नहीं टीम कैसा अनुभव कर रही है लेकिन सभी रोमांचित हैं। मैं दर्शकों को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने काफी साथ दिया।’

चेपॉक की चुनौतीपूर्ण पिच पर आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अश्विन ने 148 गेंदों में 14 चौके और एक छक्के की मदद से 106 रन की शतकीय पारी खेली। यह अश्विन के टेस्ट करियर का यह पांचवां शतक है। उन्होंने एक पारी में पांच विकेट और शतक लगाने का कमाल तीसरी बार किया है।

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *