ग्रह शांति के लिए हर सोमवार को करें दूध से जुड़े ये उपाय, बड़े से बड़े संकट से मिल जाएगी मुक्ति

 

आपने कई बार महसूस किया होगा कि काफी मेहनत के बाद भी जीवन में हमें वो परिणाम नहीं मिलता, जिसके हम वास्तव में हकदार हैं. कभी कभी तो व्यक्ति प्रयास करते करते थक जाता है, लेकिन हताशा ही हाथ लगती है. ज्योतिष की मानें तो कई बार व्यक्ति के साथ ऐसा खराब ग्रहदशा के कारण होता है. खराब ग्रहदशा होने की स्थिति में व्यक्ति का भाग्य उसका साथ नहीं देता और बार बार असफलता का स्वाद चखना पड़ता है.

 

जबकि अगर आपको तेजी से सफलता प्राप्त करनी है, तो मेहनत और भाग्य दोनों का साथ होना बहुत जरूरी है. इस परेशानी से बचने के लिए दूध से जुड़े कुछ उपाय मददगार हो सकते हैं. दरअसल दूध को चंद्रमा का कारक माना जाता है. ऐसे में दूध से जुड़े उपाय ग्रह शांति के लिए काफी कारगर माने जाते हैं. साथ ही इसके जरिए नजरदोष, दुर्घटना, पैसों की किल्लत जैसी समस्याएं भी दूर की जा सकती हैं.

 

दूध से जुड़े ये उपाय करेंगे हर मुश्किल आसान

 

ग्रह शांति के लिए

 

यदि जीवन में समस्याएं खराब ग्रहदशा की वजह से हैं तो 7 सोमवार को किसी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग को कच्चा दूध अर्पित करें. इससे ग्रहों के बुरे प्रभाव दूर होते हैं और तमाम कष्ट मिट जाते हैं.

 

सफलता प्राप्ति के लिए

 

अगर घर के आर्थिक हालात बिगड़े हुए हैं तो इसे संवारने के लिए शिवलिंग पर दूध मिश्रित जल चढ़ाएं. साथ ही रुद्राक्ष की माला से ओम सोमेश्वराय नमः का कम से कम एक माला जाप करें. हर पूर्णिमा के दिन दूध मिश्रित जल से चन्द्रमा को अर्घ्य दें. इससे आपके घर के लोगों के लिए तमाम रास्ते खुलेंगे और हर काम में सफलता मिलेगी जिससे परिवार में सुख समृद्धि आने लगेगी.

 

आर्थिक तंगी दूर करने के लिए

 

हर सोमवार और शुक्रवार को पीपल के नीचे खड़े होकर चीनी, दूध, घी और पानी को मिलाकर पीपल की जड़ में अर्पित करें. इससे सोया हुआ भाग्य भी जाग जाता है और माता लक्ष्मी की कृपा से अपार धन बरसता है.

 

बीमारी से मुक्ति के लिए

 

पानी में कच्चा दूध मिलाकर हर सोमवार की रात को शिवलिंग पर चढ़ाएं. इस दौरान ओम जूं सः मंत्र का एक माला जाप करते रहें. मान्यता है कि इस उपाय से आपकी बीमारी में काफी लाभ मिलता है. अगर दवा असर न कर रही हो, तो करने लगेगी. लेकिन ध्यान रखें किसी भी उपाय को करने के साथ दवाओं को सही समय पर लेती रहें.