ये है दुनिया का सबसे रहस्यमय पिरामिड, ताली बजाने पर आती है पक्षियों के चहकने की आवाज

 

 

दुनिया में कई ऐसी जगहें हैं, जो अपने आप में कई राज समेटे हुए हैं। उन्हीं जगहों में से एक है मेक्सिको के युकाटन इलाके में बना पिरामिड। इस पिरामिड का नाम ‘चिचेन इट्ज़ा चिरप’ है, जो मेक्सिको की बेहतरीन कलाकृति है। सांस्कृतिक विरासत का केंद्र होने के कारण यह पिरामिड कई अजीबोगरीब तथ्यों से भरा पड़ा है।

 

चिचेन इट्ज़ा एक कोलंबियाई मंदिर है जिसे माया जनजाति सभ्यता के लोगों द्वारा बनाया गया है। साथ ही इस मंदिर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यहां खड़े होकर ताली बजाने से पक्षियों के चहकने जैसी आवाज गूंजती है। वही ‘चिचेन इट्ज़ा’ मंदिर खूबसूरत निर्माणों में से एक है। लेकिन इसकी सबसे रहस्यमयी बात है यहां पर सुनाई देने वाली आवाज।

 

ध्वनि विशेषज्ञों के अनुसार, इस पिरामिड ताली में ध्वनि क्वेट्ज़ल नामक पक्षी की ध्वनि की तरह परिलक्षित होती है। इतना ही नहीं अगर एक साथ कई लोग ताली बजाएंगे तो कई पंछी बोल रहे होंगे। चिचेन इट्ज़ा की एक विशेषता यह है कि यदि कोई इसके आधार पर खड़ा होकर ड्रम बजाता है, या चिल्लाता है, तो हर बार विभिन्न प्रकार की ध्वनियाँ परिलक्षित होती हैं।

 

ऐसे में यह कहना मुश्किल है कि माया सभ्यता के लोगों को ये सब बातें पता थीं, या फिर उन्होंने ऐसी आवाजों को प्रतिबिंबित करने के लिए इस पिरामिड का निर्माण किया था। अगर इस पिरामिड के एक तरफ सीढि़यों पर सूरज की रोशनी पड़ती है तो यह सांप जैसा दिखता है। इसी के साथ यह बेहद रहस्यमयी जगह है।

 

 

 

– कशिश राजपूत

 

Share