पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है ये झरना, पापियों पर नहीं गिरता इसका पानी

Spread the love

 

-नीलम रावत, संवाददाता

 

देवभूमि उत्तराखंड में कई ऐसे अद्भुत तीर्थस्थल और पवित्र स्थान स्थित है जिनसे आज भी लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. कुछ ऐसी जगहें जिनका रहस्य कोई पता नहीं कर पाया है. ऐसा ही एक झरना उत्तराखंड में स्थित है. कहते है कि इस झरने का पानी पापी लोगों के ऊपर नहीं गिरता. जिनका लोगों का मन साफ होता है उनके ऊपर ही इस झरने का पानी गिरता है.

 

 

बद्रीनाथ से 8 किलोमीटर दूर स्थित है वसुधारा नाम का ये झरना. 400 फीट की ऊंचाई से जब ये झरना गिरता है तो वो नजारा देखने लायक होता है. ये झरना इतना ऊंचा है कि आसानी से एक बार में आप इसे देख नहीं पाएंगे.

 

वसुधारा फॉल्स से जुड़ी मान्यता

 

 

पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक, पांच पांडवों में से एक सहदेव ने अपने प्राण इसी स्थान पर त्यागे थे. मान्यता है कि यदि इस झरने के पानी के बूंद आपके ऊपर गिरने लगे तो आप समझ जाएं कि आप एक पुण्य आत्मा है. इसी कारण से दूर दूर से श्रद्धालु यहां आते हैं और इस अद्भुत और चमत्कारी झरने के नीचे खड़े होते हैं.

 

ऐसा भी माना जाता है कि इस झरने का पानी कई जड़ी-बूटियों वाले पौधों को छूकर नीचे आता है. इसके नीचे नहाने से मनुष्य निरोगी हो जाता है. जो भी पर्यटक बद्रीनाथ घूमने आते हैं, वो वसुधारा फॉल्स का अद्भुत नजारा देखने जरूर जाते है.

 

बद्रीनाथ धाम से पहले आपको भीम पुल पहुंचना होता है. ये वहीं स्थान है जहां भीम ने एक पत्थर रखकर सरस्वती नदी के ऊपर से पुल बनाया था. भीम पुल से आपको वसुधारा फॉल्स के लिए ट्रैकिंग करनी पड़ेगी. 3-4 किलोमीटर के ट्रैक के बाद आप वसुधारा पहुंच सकते हैं. इस ट्रैक के दौरान आपको प्रकृति के खूबसूरत और कभी ना भूलने वाले नजारे भी देखने को मिलेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *