टिकैत का सरकार को दो टूक, अभी ट्रेक्टर भी वहीं और किसान भी वहीं

Tikait

 

-अक्षत सरोत्री

 

दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रेक्टर रैली की (Tikait) आड़ में हुई हिंसा पर अभी सुरक्षा एंजसियों की जांच जारी है। जांच में बड़े-बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। जानकारी के अनुसार जांच एंजसियों के सामने आया है कि दिल्ली में हिंसा खालिस्तान नेटवर्क और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ सामने आ रहा है। अब आज चल रहे ट्रेन रोको आंदोलन के बीच राकेश टिकैत ने एक जनसभा को सम्वोधित करते हुए बड़ा बयान दे डाला।

 

तालिबान ने दी फिर मलाला को जान से मारने की धमकी, सुरक्षा एंजसियां अलर्ट पर

 

यह बोले राकेश टिकैत

 

हरियाणा के हिसार में केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए नए कृषि कानूनों को लेकर भारतीय किसान संगठन के नेता राकेश टिकैत (Tikait) ने एक बार फिर ट्रैक्‍टर रैली की धमकी दी है। हिसार में राकैश टिकैत ने कहा है कि अगला लक्ष्य 40 लाख ट्रैक्टरों का है और वह देशभर में जाकर 40 लाख ट्रैक्टर इकट्ठा करेंगे। अगर ज्यादा समस्या की तो ये ट्रैक्टर भी वहीं हैं, ये किसान भी वही है, ये फिर दिल्ली जाएंगे।

 

 

हल क्रांति की धमकी दे डाली सरकार को

 

 

इस बार हल क्रांति होगी, जो खेत में औजार इस्तेमाल होते हैं, वे सब जाएंगे। हरियाणा के खरक पुनिया में बीकेयू के राकेश टिकैत (Tikait) ने कहा, ”फसलों की कीमतों में वृद्धि नहीं हुई है, लेकिन ईंधन की कीमतें बढ़ गई हैं। यदि केंद्र ने स्थिति को बर्बाद कर दिया, तो हम अपने ट्रैक्टरों को पश्चिम बंगाल में भी ले जाएंगे। किसानों को वहां एमएसपी भी नहीं मिल रह।” उन्‍होंने कहा, ”केंद्र सरकार को कोई भी गलत धारणा नहीं होनी चाहिए कि किसान फसल की कटाई के समय वापस चले जाएंगे। यदि वे जोर देते हैं, तो हम अपनी फसलों को जला देंगे। भारतीय किसान यूनियन का कहना है कि आंदोलन को शांतिपूर्ण रखा जाएगा लेकिन इसके बावजूद पुलिस अपनी ओर से हरसंभव सावधानी बरत रही है। देश के कई राज्यों में पुलिस अलर्ट है। कई संवेदनशील जिलों में स्टेशनों के बाहर पुलिसकर्मियों की बड़ी संख्या में तैनाती की गई है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *