UP Election: ‘ओपिनियन पोल दिखाना आचार संहिता का उल्लंघन’, सपा ने चुनाव आयोग से की रोक लगाने की मांग

समाजवादी पार्टी और चुनाव आयोग

यूपी विधानसभा चुनाव (UP Vidhan Sabha Chunav) से पहले न्यूज चैनलों पर दिखाए जा रहे ओपिनियन पोल को लेकर समाजवादी पार्टी ने आपत्ति जताई है. सपा ने चुनाव आयोग ने तुरंत इन ओपिनियन पोल पर रोक लगाने की मांग की है. सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने चुनाव आयोग (Election Commission) को पत्र लिखकर कहा है कि ये ओपिनियन पोल चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है. इससे वोटर्स भ्रमित हो रहे हैं. सपा प्रदेश अध्यक्ष ने चुनाव आयोग से कहा है कि न्यूज चैनलों द्वारा ओपिनियन पोल (Opinion Poll) दिखाना चुनाव आचार संहिता का खिला उल्लंघन है.

यह भी पढ़ें:यूपी चुनाव: सपा के स्टार प्रचारकों में मुलायम सिंह यादव, जया बच्चन समेत 30 प्रचारक शामिल

सपा (SP) प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यूपी में 8 जनवरी को आचार संहिता लागू हुई थी. 21 जनवरी को पहले चरण की वोटिंग के लिए नामांकन प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है. इस दौरान न्यूज चैनलों पर लगातार ओपिनियन पोल (Opinion Poll)  दिखाए जा रहे हैं, इससे वोटर्स भ्रमित हो रहे हैं. सपा ने चुनाव आयोग से तुरंत न्यूज चैलन पर दिखाए जाने वाले ओपिनियन पोल पर रोक लगाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि इससे चुनाव प्रक्रिया प्रभावित हो रही है.

यह भी पढ़ें:जानिए कौन हैं अखिलेश की पार्टी में शामिल हुए ‘सबसे लंबे आदमी’ धर्मेंद्र प्रताप सिंह ?

सपा प्रदेश अध्यक्ष ने EC को लिखी चिट्ठी

सपा प्रदेश अध्यक्ष ने चुनाव आयोग ने मांग की है कि यूपी में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित कराने के लिए ओपिनियन पोल पर तुरंत रोक लगाई जाए. समाजवादी पार्टी ने तत्काल ओपिनियन पोल पर रोक लगाने की मांग चुनाव आयोग से की है. बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव से पहले टीवी चैनलों पर लगातार सर्वे दिखाए जा रहे हैं. दरअसल सर्वे में बीजेपी को पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की कही जा रही है. हालांकि सर्वे में सपा को भी मजबूत पार्टी की तरह दिखाया जा रहा है. सपा ने चुनाव से इस तरह के सर्वे पर रोक लगाने की मांग की है.

यह भी पढ़ें : Samajwadi Party से मिला Shivpal Yadav को टिकट, जसवंत नगर से लड़ेंगे चुनाव