क्या हैं मेडिकल स्टूडेंट्स के लिए बेहतरीन ऑप्शन ?

Medical students
Medical students

Medical students: आजकल हर माता-पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा बड़ा होकर डॉक्टर या इंजनीयर बनें। जिसकी वजह से वे अपने बच्चों को 10+2 में साइंस स्ट्रीम से पढ़ने के लिए कहते हैं। हालांकि बहुत से स्टूडेंट्स का मन होता है कि वो साइंस पढ़कर डॉक्टर बने या फिर इंनजीनियर लेकिन इन्हीं में से कुछ ऐसे मेडिकल स्टूडेंट्स भी होते हैं। जो साइंस स्ट्रीम से पढ़कर भी डॉक्टर नहीं बनना चाहते हैं।

12वीं के बाद अगर आप भी मेडिकल फिल्ड में करियर बनाने की सोच रहे हैं। तो आज हम आपको बेस्ट कोर्सेस के बारे में बताने जा रहे हैं। सबसे पहले आपको बताएंगे कि 10+2 में एक स्टूडेंट को कौन-कौन से सब्जेक्ट पढ़ने पड़ते हैं। साथ ही मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं। जिन्हें कर के एक मेडिकल स्टूडेट दूसरी फील्ड में भी अपना भविष्य उज्जवल बना सकता है।

मेडिकल सब्जेक्ट (PCB)

बायोलॉजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री, इंग्लिश, अन्य

मेडिकल एंट्रेंस एग्ज़ाम

NEET UG- National Eligibility cum Entrance Test (Undergraduate)

National Testing Agency (NTA)

नीट में अटेम्प्ट- अनलिमिटेड एटेम्पट

आयु सीमा- कोई आयु सीमा नहीं

MBBS-AIIMS, BMAT, etc.

NEET-UG में क्वालिफाइंग पर्सेंटाइल

टोटल नंबर- 720
जनरल- 117-150 नंबर
एससी/एसटी/ओबीसी- 116-93 नंबर

मेडिकल कोर्सेस

MBBS, BDS and BAMS, BUMS, BHMS, etc.

भारत में मेडिकल सीटें

MBBS- 91,927 सीटें
BDS- 27,698 सीटें
BAMS/BUMS/BHMS- 52,720 सीटें

मेडिकल कॉलेज

595 मेडिकल कॉलेज
302 सरकारी मेडिकल कॉलेज
218 प्राइवेट मेडिकल कॉलेज
47 डीम्ड यूनिवर्सिटी
03 सेंट्रल यूनिवर्सिटी
19 एम्स मेडिकल इंस्टिट्यूट

12वीं के बाद मेडिकल क्षेत्र में जानें के लिए 100 में से 90 स्टूडेंट्स नीट की तैयारी करते हैं। हालांकि मेडिकल फील्ड में कई फील्ड ऐसे भी हैं जिसमें बिना नीट एग्जाम के बिना भी करियर बनाया जा सकता है। दरअसल, मेडिकल कोर्स की डिमांड बहुत ज्यादा है। डॉक्टर के बाद मेडिकल फील्ड में सबसे ज्यादा नर्सों की डिमांड हैं। नर्स, फिजियोथेरेपिस्ट जैसे कई फील्ड हैं जहां स्टूडेंट्स बिना नीट एग्जाम किए भी करियर बना सकते हैं। इन फील्डस में करियर बनाने के लिए स्टूडेंट्स का 12वीं क्लास में पास होना बेहद जरूरी है।

मेडिकल में करियर ऑप्शन

नर्सिंग
डाइटीशियन
फिज़ियोथेरेपी
वेटेरिनरी कोर्सिज़
क्लिनिकल साइकोलॉजी
हैल्थ इंस्पेक्शन
फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट
हॉस्पिटल मैनेजमेंट
रिसर्च अपोर्चुनिटीज़

सबसे पहले आपको बता दें कि मेडिकल कोर्स को पूरा करने के बाद स्टूडेंट्स स्टाफ नर्स, रजिस्टर्ड नर्स आरएन, नर्स शिक्षक, मेडिकल कोडर जैसे फील्डस में करियर बना सकते हैं। साथ ही, ड्रग सेफ्टी, मेडिकल केमिस्ट्री जैसी चीजों की जानकारी रखने वाले लोगों को फार्मोसिस्ट बन सकते हैं। गौर करने वाले बात है कि, मेडिकल फील्ड में फार्मासिस्ट की भी डिमांड बहुत ज्यादा है। 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद स्टूडेंट्स बीए फार्मेसी का कोर्स कर सकते हैं। साथ ही, स्टूडेंट्स फार्मासिस्ट, केमिकल टेक्नीशियन, ड्रग इंस्पेक्टर, हेल्थ इंस्पेक्टर जैसे करियर ऑप्शन को चुन सकते हैं।

हालांकि, मेडिकल फील्ड में बहुत सारे और कोर्स भी मौजूद हैं जिन्हें मेडिकल स्टूडेंट्स कर सकते हैं और एक बेहतर करियर बना सकते हैं। जैसे कि, फिजियोथेरेपी, साइकोलॉजी और पशु चिकित्सा विज्ञान कोर्स कर सकते हैं।

Report- Tarannum rajpoot