क्या चीन और ताइवान में होगा युद्ध ? लीक हुआ चीन का सीक्रेट प्लान

China and Taiwan
China and Taiwan

China and Taiwan : क्या आने वाले समय में हम चीन और ताइवान के बीज युद्ध होता देख सकते है। बता दें कि चीन और ताइवान में एक दूसरे के विरोधी देश हैं। रूस-यूक्रन के बीच चल रहे यूद्ध के बीच चीन को भी मौका मिल गया है कि वो ताइवान पर हमला बोल दे। दरअसल, पिछले 19 दिनों में दो बार चीनी लड़ाकू विमानों ने ताइवान में घुसपैठ की जिसके बाद ताइवान ने चीन की चाल का पर्दाफाश कर दिया है।

चीन ने एक बार फिर से ताइवान का राग अलापना शुरु कर दिया है। अपने इस मिशन को पूरा करने के लिए चीन ने पिछले 19 दिन में 2 बार ताइवान के खिलाफ चाल चली है। जिसका खुलासा ताइवान ने किया है। दरअसल, चीन मानता है कि ताइवान उसका एक प्रांत है। जो एक दिन फिर से चीन का हिस्सा बन जाएगा। दूसरी ओर, ताइवान ख़ुद को एक आज़ाद मुल्क मानता है। उसका अपना संविधान है और वहां लोगों के जारिए चुनी हुई सरकार का शासन है।

यही वजह है कि चीन ताइवान पर अपना कब्जा जमाना चहता है। दोनों देशों के बीच चल रही इस जंग में अमेरिका ताइवान के साथ खड़ा नजर आता है। जो चीन को ना गवारा है। यही वजह है कि जहां NATO देश रुस के ऊपर बैन लगा रहे है। वहीं चीन अपनी दोस्ती रुस के साथ बकायदा निभा रहा है।

यह भी पढ़ें : असम बाढ़ के बीच महाराष्ट्र सरकार गिराने में व्यस्त पीएम मोदी: कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई

ताइवान ने किया बड़ा खुलासा : China and Taiwan

दरअसल, ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने बड़ा खुलासा किया है। बताया कि ताइवान ने चीन के 29 विमानों को चेतावनी देकर खदेड़ दिया गया है। यह भी बताया कि इस घुसपैठ में चीनी वायु सेना के सात जे-10 लडाकू विमान पांच जे-16 लड़ाकू विमान और एक वाई-8 इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर विमान शामिल था। इन विमानों ने दक्षिण चीन सागर में ताइवान के प्रतास द्वीपसमूह पर काबू पाने के लिए उड़ान भरी थी।

यह भी पढ़ें : उद्धव ठाकरे सीएम आवास छोड़, अपने घर ‘मातोश्री’ पहुंचे!

अमेरिका की चीन को चेतावनी

बता दें कि अमेरिका भी कई बार आशंका जता चुका है कि चीन ताइवान पर हमला कर सकता है। अमेरिका ने यह भी खुला ऐलान कर दिया है कि अगर ऐसा होता है तो वह ताइवान की मदद के लिए सेना भेजेगा। हालांकि, चीन का दावा है कि उसके इरादे पूरी तरह से शांति बनाए रखने के हैं।

तो दूसरी तरफ चीन के मन में साफ चोर नजर आता है..क्योंकि चीन पश्चिमी प्रशांत महासागर पर अपना दबदबा चहता है। हालांकि, अगर ऐसा होता है तो वो पश्चिमी प्रशांत महासागर में अपना दबदबा दिखाने को आज़ाद हो जाएगा। उसके बाद गुआम और हवाई द्वीपों पर मौजूद अमेरिकी सैन्य ठिकाने को भी ख़तरा हो सकता है। जिसकी वजह से अमेरिका ताइवान के साथ हाथ मिलाए खड़ा है और वो किसी भी कीमत पर चीन का कब्जा ताइवान पर नहीं होने देना चहता है।

यह भी पढ़ें : क्या नवाज़ शरीफ जाएंगे जेल ! या मिल जाएगी नवाज़ को बेल?

लीक हुआ चीन का सीक्रेट प्लान

दरअसल, चीन साजिशों का पर्दाफश कई बार हो चुका है। चीन के ही एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने दावा किया था कि एक ऑडियो क्लिप में चीन की गुप्त योजना कैद है। जिसमें चीन के टॉप सैन्य अधिकारी ताइवान पर हमले की बात कर रहे हैं। साथ ही इस बात पर खास तौर पर फोक्स किया गया था कि ताइवान की अहम जगहों पर कब्जा कैसे किया जा सके।

हालाकि, चीन का राज खुलने के बाद चीन ने इस बात से साफ इंकार कर दिया था। हालाकि, पहली बार ऐसा हुआ था कि चीन का कोई प्लान इस तरह लीक हो गया। जिसके बाद चीन के नपाक इरादों की पोल पट्टी खुल गई। अब ये देखना होगा कि अपनी ही चाल के जाल में खुद ही फंसने वाला चीन आखिर कब तक इस बात से मुकरता रहता है कि उसने किसी तरह साजिश ताइवान के खिलाफ नहीं की है।

यह भी पढ़ें: “शिवसेना ने कभी हिंदुत्व नहीं छोड़ा”: फेसबुक लाइव में बोले उद्धव ठाकरे

-Tarannum Rajpoot