यासीन मलिक को ले जाया गया तिहाड़ जेल, इन आरोपों के तहत कोर्ट ने दी सजा

तिहाड़ जेल
तिहाड़ जेल

तिहाड़ जेल: मलिक को अधिकतम मौत की सजा का सामना करना पड़ रहा है,

मलिक को गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी

(आपराधिक साजिश) और 124-ए (देशद्रोह) के तहत आरोपों का सामना करना पड़ा।

मलिक पर 10 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है

सजा का ऐलान होते ही दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर जमा हुए लोगों ने मिठाई बांटी

अब यासीन मलिक को तिहाड़ जेल ले जाया गया है

कुछ देर पहले ही यासीन मलिक को हवालात से कोर्टरूम लाया गया था |Yasin Malik: Court order on sentencing shortly, NIA seeks death penalty |  Jammu and Kashmir News | Zee News

ALSO READ: जानिए कौन है यासीन मलिक, जिसको अदालत ने दी उम्रकैद की सजा

विशेष न्यायाधीश प्रवीण सिंह ने 19 मई को मलिक को दोषी ठहराया था

और NIA अधिकारियों को उनकी वित्तीय स्थिति का आकलन करने का निर्देश दिया था

ताकि जुर्माना की राशि निर्धारित की जा सके।

यासीन मलिक के खिलाफ मामला पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख

हाफिज सईद और अन्य अलगाववादी नेताओं की जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी और आतंकवादी गतिविधियों

के लिए घरेलू और विदेशों से धन जुटाने, प्राप्त करने और एकत्र करने की साजिश से संबंधित है।NIA seeks death penalty for separatist Yasin Malik, Delhi court verdict  shortly | Latest News India - Hindustan Times

ALSO READ: इन आरोपों के तहत कोर्ट द्वारा दी गयी मलिक को उम्रकैद की सजा

इस प्रकार सजा सुनाई गई:

– IPC की धारा 120बी: 10 साल की कैद और RS 10,000 जुर्माना

– धारा 121 : आजीवन कारावास

– 121ए: 10 साल की कैद और RS 10,000 जुर्माना

– UAPA की धारा 18: 10 साल की कैद और RS 10,000 जुर्माना

– 20: 10 साल की कैद और RS 10,000 जुर्माना

– 38 और 39: 5 साल की कैद और RS 5,000 जुर्माना

–  17: आजीवन कारावास जुर्माना RS10 लाख

-13- 5 साल की कैद

– 15: 10 साल की कैद

– कशिश राजपूत